Ghalib : Sangeet Ke Saanche Mein Dhali Gazalen

T.N. Raj

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
150 +


  • Year: 2007

  • Binding: Paperback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 978-81-7016-753-2

गालिब के कलाम का भारत और बाहर के देशों की बहुत-सी भाषाओं में अनुवाद हो चुका है। लेकिन कलामे-गालिब की खूबी यह हे कि डेढ़ शताब्दी से कुछ ज्यादा अर्सा गुजर जाने के बाद भी वह हमारे ही युग का कलाम मालूम होता है और मुझे तो ऐसा महसूस होता है कि हर आने वाले युग में इसका नयापन बरकरार रहेगा। दरअस्ल बड़े शायर होते ही वही हैं जिनका कलाम हर युग, हर सत्ह और जिंदगी के हर मौजू ‘विषय’ का अहाता कर ले। 
-डाॅ. शम्स बदायंूनी

T.N. Raj

टी.एन. राज़
पूरा नाम : त्रिलोकी नाथ काम्बोज
क़लमी नाम : टी.एन. ‘राज़’
जन्म : 10 सितम्बर, 1934, पटियाला (पंजाब)
शिक्षा : एम.ए. (उर्दू एवं हिन्दी), एल-एल.बी., ऑनर्स : उर्दू, हिन्दी एवं पंजाबी
व्यवसाय : डिप्टी सेक्रेटरी (रिटायर्ड) महकमा-ए- क़ानून (हरियाणा)
शौक़ : शायरी, ज्योतिष एवं शतरंज
कृतियां : ग़ालिब—जीवन, शायरी और ख़त (हिन्दी एवं पंजाबी) ०  दुर्गत (उर्दू) हास्य-व्यंग्य काव्य संग्रह ०  ग़ालिब और दुर्गत (हिन्दी) हास्य-व्यंग्य काव्य-संग्रह ०  रंगारंग उर्दू शायरी (हिन्दी एवं पंजाबी) ०  हिंदुस्तान और पाकिस्तान की बेहतरीन उर्दू हास्य-व्यंग्य शायरी (हिन्दी एवं पंजाबी) ०  अहमद फ़राज़ दी चोणवीं शायरी (पंजाबी) ०  परवीन शाकिर दी चोणवीं शायरी (पंजाबी) ०  मैख़ाना-जाम-ओ-पैमाना (पंजाबी) ०  माँ—मुनव्वर राना (पंजाबी) ०  दुनिया- ए-ग़ज़ल (हिन्दी एवं पंजाबी में संपादनाधीन)
अवार्ड  : हरियाणा उर्दू अकादमी ०  भाषा विभाग, पंजाब ०  विभिन्न संस्थाओं द्वारा सम्मानित

Scroll