Hindustan Aur Pakistan Ki Behatreen Urdu Haasya-Vyang Shaaeree

T.N. Raj

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
395.00 356 + Free Shipping


  • Year: 2011

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Amarsatya Prakashan

  • ISBN No: 9788188466719

उर्दू ज़बान अपनी शीरीनी, लताफ़त और नज़ाकत के सबब सदियों से लोगों के दिलों पर राज कर रही है। उर्दू शायरी ख़ास तौर पर ग़ज़ल लिखने, पढ़ने, सुनाने या गाने वाला शख्स हमें कहीं न कहीं मिल ही जाता है । मीर, ग़ालिब, इकबाल, दाग, फ़ैज, फ़िराक़, जिगर और साहिर वग़ैरा की शायरी का जादू हमेशा बरकरार रहेगा । यह मानने में कोई हरज नहीं कि उर्दू की संजीदा शायरी के मुकाबले में अभी हास्य व्यंग्य कविता में बहुत-सी गुंजाइशें बाक़ी हैं । जहाँ तक उर्दू नस्र (गद्य) में हास्य-व्यंग्य का तआल्लुक है यह बात पूरे यकीन से कही जा सकती है कि इसमें अनमोल हीरों और मोतियों की कोई कमी नहीं ।

T.N. Raj

टी.एन. राज़
पूरा नाम : त्रिलोकी नाथ काम्बोज
क़लमी नाम : टी.एन. ‘राज़’
जन्म : 10 सितम्बर, 1934, पटियाला (पंजाब)
शिक्षा : एम.ए. (उर्दू एवं हिन्दी), एल-एल.बी., ऑनर्स : उर्दू, हिन्दी एवं पंजाबी
व्यवसाय : डिप्टी सेक्रेटरी (रिटायर्ड) महकमा-ए- क़ानून (हरियाणा)
शौक़ : शायरी, ज्योतिष एवं शतरंज
कृतियां : ग़ालिब—जीवन, शायरी और ख़त (हिन्दी एवं पंजाबी) ०  दुर्गत (उर्दू) हास्य-व्यंग्य काव्य संग्रह ०  ग़ालिब और दुर्गत (हिन्दी) हास्य-व्यंग्य काव्य-संग्रह ०  रंगारंग उर्दू शायरी (हिन्दी एवं पंजाबी) ०  हिंदुस्तान और पाकिस्तान की बेहतरीन उर्दू हास्य-व्यंग्य शायरी (हिन्दी एवं पंजाबी) ०  अहमद फ़राज़ दी चोणवीं शायरी (पंजाबी) ०  परवीन शाकिर दी चोणवीं शायरी (पंजाबी) ०  मैख़ाना-जाम-ओ-पैमाना (पंजाबी) ०  माँ—मुनव्वर राना (पंजाबी) ०  दुनिया- ए-ग़ज़ल (हिन्दी एवं पंजाबी में संपादनाधीन)
अवार्ड  : हरियाणा उर्दू अकादमी ०  भाषा विभाग, पंजाब ०  विभिन्न संस्थाओं द्वारा सम्मानित

Scroll