Mere Chuninda Geet

Bharat Bhushan

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
295.00 266 + Free Shipping


  • Year: 2009

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Amarsatya Prakashan

  • ISBN No: 9788188466559

Bharat Bhushan

भारत भूषण
8 जुलाई, 1929 को मेरठ में एक अत्यंत अभावपूर्ण परिवार में जन्म हुआ। माँ के संस्कारों में ‘रामचरितमानस’ बसी हुई थी। 10-12 वर्ष की आयु में माँ के साथ चौपाइयाँ गाया करते थे। तभी आधी-आधी ‘प्रेमसागर’ और ‘सुखसागर’ पढ़ी थी। फिर इंटर में ‘चन्द्रकान्ता’, सेक्शटन ब्लैक सीरीज़ पढ़ी। एक इंटर कॉलेज में सहायक अध्यापक हो गए और फिर एम.ए. हिंदी करके वहीं प्रवक्ता भी। किशोरावस्था का एक खंडित प्रेम सर्जक के प्राणों में बिंध गया था। 
उन्हीं दिनों रीतिकाल गा-गाकर पढ़ा। 1946 में विद्यार्थियों में बैठकर निराला और देवराज दिनेश को एक सम्मेलन में सुना। उनके स्वागत-सम्मान से स्वयं अभिभूत होकर 1951 से गीत लिखने में प्रवृत्त हुए और आज तक उसी धारा में हैं। पहला संग्रह ‘सागर के सीप’ 1958 में छपा और दूसरा ‘ये असंगति’ 1993 में।

Scroll