Saanch Kahoon To…

Prabhakar Shrotiya

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
35.00 32 + Free Shipping


  • Year: 1993

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 978-81-7016-175-2

'साँच कहूँ तो' राजस्थानी रासो-कथा पर आधारित स्त्री-पुरुष सम्बन्धों का एक नया लीला-नाटक है । इसमें धारा-नरेश भोज परमार की पुत्री राजमती और अजमेर के चौहान राजा बीसलदेव के विवाह, वियोग एवं पुनर्मिलन की मार्मिक कथा को मारवाड़ और मालवा की लोक-रंग-परम्परा की रंगत के कल्पनाशील प्रयोग से एक दिलचस्प मौलिक नाटक का रूप प्रदान किया गया है ।
यह नाटक आधुनिक भारतीय रंग मुहावरे की रचनात्मक खोज में लगे प्रतिभावान साहसी रंगकर्मियों को न केवल अपनी ओर आकृष्ट कोमा बल्कि समकालीन हिन्दी नाटय-लेखन एवं रंगकर्म के लिए एक महत्वपूर्ण रचना भी सिद्ध होगा । 
-जयदेव तनेजा

Prabhakar Shrotiya

Scroll