Mere Saakshatkaar : Maitreyi Pushpa

Maitreyi Pushpa

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
275.00 248 + Free Shipping


  • Year: 2010

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 9789380146850

मेरे साक्षात्कार : मैत्रेयी पुष्पा

मैत्रेयी पुष्पा हिंदी की विशिष्ट लेखिका हैं। ऐसी विशिष्टजिन्होंने स्त्री-जीवन के सामान्य सुख-दुःख को अपनी रचना के केंद्र में स्थान दिया है। मैत्रेयी को यह श्रेय भी है कि आदि-इत्यादिकी कोटि से स्त्री-प्रश्नों को उन्होंने बाहर निकाला है। समकालीन साहित्य और समाज में मैत्रेयी पुष्पा का रचनात्मक स्वर निरंतर सार्थकता प्राप्त कर रहा है। मेरेसाक्षात्कारमें मैत्रेयी पुष्पा से समय-समय पर लेखकों/पत्रकारों द्वारा की गई बातचीत संकलित है। साक्षात्कारों से गुजरते हुए स्पष्ट लगता है कि प्रश्न तो एक निमित्त या प्रस्थानहैं। लेखिका के मन में इतना कुछ उमड़-घुमड़ रहा है कि वह बात प्रारंभ करने का बहाना भर चाहता है। कहानीउपन्यास और अन्य टिप्पणियों में जो अनकहा रह गयावह इनसाक्षात्कारों में प्रकट हुआ है। मैत्रेयी की पारदर्शी भाषाबेलाग सोच और जोखिम उठाने की प्रवृत्ति इन साक्षात्कारों को पठनीय  विचारणीय बनाती है। स्त्री-विमर्शतथा विभिन्नप्रश्नों के उत्तर तलाशते ये साक्षात्कार मूल्यवान हैं।

इस पुस्तक में मैत्रेयी पुष्पा के कुछ विशेष वक्तव्य भी उपस्थित हैं। ये वक्तव्य विभिन्न संदर्भों के साथ हैं। इनसे जाहिर होता है कि मैत्रेयी अपने परिवेश और उसकी सक्रियताओंसे भली-भाँति परिचित हैं। वक्तव्य वस्तुतः लेखिका की वैचारिकता को पहचानने का माध्यम हैं। साक्षात्कारों और पूरक रूप में वक्तव्यों से समृद्ध यह पुस्तक इस जटिल समयको समझने में हमारी मदद करती है।

Maitreyi Pushpa

मैत्रेयी पुष्पा
जन्म : 30 नवंबर, 1944, अलीगढ़ जिले के 'सिकुर्रा' गांव से
आरंभिक जीवन : जिला झाँसी के 'खिल्ली' गाँव में
शिक्षा : एम० ए० (हिंदी साहित्य) बूंदेलखंड कॉलेज, झाँसी
प्रकाशित रचनाएं : बेतवा बहती रही, इदन्नमम, चाक, झूला नट, अल्मा कबूतरी, विजन, अगनपाखी, कही ईसुरी फाग (उपन्यास); गोमा हंसती है, ललमनियाँ, चिन्हार (कहानी); कस्तूरी कुंडल बसै (आत्मकथा), खुली खिड़कियाँ (स्त्री-विमर्श)
- 'फैसला' कहानी पर टेलीफिल्म 'बसुमती की चिटूठी'
- 'इदन्नमम' उपन्यास पर आधारित साँग एंड ड्रामा डिवीजन द्वारा निर्मित छायाचित्र 'संक्रांति'
सम्मान-पुरस्कार : 'सार्क लिटरेरी अवार्ड' और 'द हंगर प्रोजेक्ट' द्वारा दिए गए 'सरोजिनी नायडू पुरस्कार' के अतिरिक्त अनेक राष्ट्रीय एवं प्रादेशिक पुरस्कारों से सम्मानित

Scroll