Janmanmayi Subhadra Kumari Chauhan

Rajendra Upadhyaya

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
120.00 108 + Free Shipping


  • Year: 2016

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 9788188121649

Rajendra Upadhyaya

राजेन्द्र उपाध्याय
जन्म : 20 जूऩ, 1958, सैलाना, जिला रतलाम (म० प्र०) शिक्षा : बी०ए०, एल०एल०बी०, एम०ए० (हिंदी साहित्य) कृतियां : 'सिर्फ पेड़ ही नहीं कटते हैं' (कविता-संग्रह, 1983) ० 'ऐशट्रे' (कहानी-संग्रह, 1989) ० 'दिल्ली में रहकर भाड़ झोंकना' (व्यंग्य-संग्रह, 1990) ० 'खिड़की के टूटे हुए शीशे में' (कविता-संग्रह, 1991) ० ‘लोग जानते हैं' (कविता-संग्रह, 1997, पुरस्कृत) ० डॉ० प्रभाकर माचवे पर साहित्य अकादेमी से मोनोग्राफ, 2004 ० 'रचना का समय' (गद्य-संग्रह, 2005) समीक्षा आलोचना ० 'मोबाइल पर ईश्वर' (कविता-संग्रह 2005) ० 'रूबरू' (साक्षात्कार-संग्रह, 2005) ० 'पानी के कई नाम हैं' (कविता-संग्रह, 2006) ० 'दस प्रतिनिधि कहानियों : रवीन्द्रनाथ ठाकुर' (कहानी-संग्रह, 2006) संपादन ।
विशेष : हिंदी अकादमी, दिल्ली का साहित्यिक कृति पुरस्कार ० साहित्य अकादेमी की अनेक कविता कार्यशालाओं में भाग लिया ० अंग्रेजी, बंगला, सिंधी, मलयालम, गुजराती, राजस्थानी में अनेक कविताओं का अनुवाद ० 'जनसत्ता' और 'रंगप्रसंग' में लगातार समीक्षाएं ० सभी राष्ट्रीय पत्र- पत्रिकाओं में अनेकानेक टिप्पणियाँ, लेख, समीक्षाएं प्रकाशित ० अमेरिका, लंदन की यात्राएँ की ० 'कल्पना' के काशी अंक और 'रंग तेन्दुलकर' का संपादन ० राजस्थान शिक्षा अकादमी के लिए 'बादल और पतंग' का संपादन ० सुभद्राकुमारी चौहान पर एन०सी०ई०आर०टी० के लिए वृत्तचित्र का आलेख ० 'तनाव' के लिए शिंबोसर्का की कविताओं के अनुवाद ।

Scroll